Antyodaya Anna Yojana: इस राशन कार्ड वालो को मिलेंगे 35 किलो राशन !

Antyodaya Anna Yojana : अंत्योदय अन्न योजना 25 दिसंबर साल 2002 वह साल जब केंद्र सरकार ने खाद्य आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के अंतर्गत एक स्कीम की शुरुआत की थी “अंत्योदय अन्न योजना” इसका उद्देश्य था गरीब और वंचित वर्ग की खाली थाली तक भोजन के निवाले को पहुंचाना। यह योजना आज किस मुकाम पर है और आप कैसे इसका लाभ ले सकते हैं सब जानेंगे इस पोस्ट में।

Antyodaya Anna Yojana क्या है ?

आपको आसान भाषा में कहे तो Antyodaya Anna Yojana एक ऐसी स्कीम है जो गुजरते वक्त के साथ आपके लिए और नए फायदे लेकर आपको खुद से जोड़ रही है। अगर आपने अभी तक इस स्कीम का लाभ नहीं लिया है ,इस योजना के दायरे में आते हैं तो पूरी स्कीम को ध्यान से समझिए और लाभ उठाइए।

आप में से कुछ पाठको के कमेंट्स हो सकते हैं कि बताना जितना आसान है योजना का लाभ पाना उतनाही कहीं मुश्किल है। जब आप पूरी तरह अपने अधिकार और योजना के फायदों से वाकिफ होंगे स्कीम को पाने के आपको सही रास्ते मालूम होंगे तो थोड़ी मुश्किल जरूर होगी लेकिन राह नामुमकिन नहीं रहेगी तो स्कीम को समझिए और पात्र हैं तो लाभ लेने के लिए आगे बढिये।

सबसे पहले सुनिए एक जरूरी बात अगर आपकी ग्राम पंचायतें और नामित अधिकारी ऐसे परिवारों लोगों की सूची बनाते हैं जो गरीबी रेखा से नीचे आते हैं तो उन्हें सहयोग कीजिए सही जानकारी दीजिए क्यों क्योंकि 140 करोड़ की आबादी में ऐसे परिवारों को खोजना जरूरी है जो वाकई इस योजना के हकदार हैं।

और इसकी जिम्मेदारी केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को दी है और देश के विभिन्न राज्यों में ग्राम स्तर पर यह काम कर रही हैं। पंचायतें जो पात्र परिवारों को चुनकर उन्हें इस स्कीम के लाभों तक पहुंचाने में अपना काम कर रही हैं।

Antyodaya Anna Yojana यह योजना देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई जी के जन्मदिवस पर शुरू हुई इस स्कीम से पहले जहां गरीब और अक्षम वर्ग लाभ ले रहे थे उसमें बाद में दिव्यांगों को भी शामिल किया गया, और साल 2020 में हर दिव्यांग के परिवार को 35 किलोग्राम राशन हर महीने देने का ऐलान केंद्र सरकार की तरफ से हुआ।

यह योजना साल 2000 में 10 लाख गरीब और असमर्थ परिवारों को खाद्य आपूर्ति मुहैया कराने के लक्ष्य के साथ शुरू हुई थी जिसके तहत आज देश भर के करोड़ों परिवार अनाज पा रहे हैं।

लेकिन तब भी ऐसे लोगों की संख्या बहुत है जो इस योजना की पूरी जानकारी नहीं होने की वजह से केंद्र सरकार की चलाई इस योजना का लाभ नहीं ले पा रहे क्यों क्योंकि योजना के तहत राशन पाने के लिए जरूरी होता है

“अंत्योदय अन्न राशन कार्ड” जिसके माध्यम से कार्डधारक प्रतिमाह बेहद कम दरों पर यानी ₹ 2/- किग्रा के हिसाब से गेहूं और ₹ 3/- प्रति किलोग्राम के हिसाब से चावल , कुल 35 किग्रा तक राशन पा सकता है जिसमें 20 किग्रा गेहूं और 15 किग्रा चावल हैं। लेकिन याद रहे सिर्फ पात्र व्यक्ति जो अपना अंत्योदय अन्न राशन कार्ड बनवा चुका है।

Antyodaya Anna Yojana पात्रता क्या है ?

अब जानेंगे कि पात्रता क्या है ?कौन है जो कार्ड बनवा सकता है? तो जानिए ” बिलो पावर्टी लाइन “(Below Poverty Line) यानी गरीबी रेखा से नीचे की आबादी इस योजना का लाभ पाने की पात्र है।

अगर आपकी फैमिली इनकम सालाना 15000 रू तक है, या रोज कमाया रोज खाया वाली स्थिति से आप अपना गुजारा करते हैं, बुजुर्ग हैं जो ओल्ड ऐज पेंशन के दायरे में आते हैं, अपने लिए राशन नहीं जुटा सकते भूमिहीन किसान मजदूर या बढ़ई ,मोची, कुम्हार ,लोहार,बुनकर, विधवा, बेसहारा, आदि और जनजाती परिवार इसके दायरे में आते हैं।

अंत्योदय अन्न राशन कार्ड कैसे मिलेगा ?

आपको आवेदन कैसे करना है ? आवेदन निशुल्क है अगर आप चाहे तो ऑनलाइन करें अगर तकनीकी जानकारी रखते हैं तो ,ऑनलाइन आवेदन करना सबसे अच्छा ऑप्शन है लेकिन यह संभव ना हो तो ऑफलाइन आवेदन का भी विकल्प है।

इसके लिए आपको सभी जरूरी दस्तावेजों की फोटोकॉपीज के साथ अपने क्षेत्र के खाद्य आपूर्ति विभाग पहुंचकर आवेदन करना होगा बस जरूरी दस्तावेज जुटाए जैसे।

  • आधार कार्ड
  • पहचान प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • परमानेंट मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • एक एफिडेविट

इस योजना के लिए आवेदन करने वाले के पास पहले से कोई राशन कार्ड नहीं होना चाहिए। यह कंडीशन इसलिए रखी गई है क्योंकि अगर आपके पास बीपीएल राशन कार्ड है उसके तहत आप पहले से राशन ले रहे हैं तो आप इस योजना के तहत राशन पाने के पात्र नहीं है।

अब इन तमाम जरूरी दस्तावेजों के साथ अंत्योदय अन्न योजना आवेदन फॉर्म भर कर लगाएं और फॉर्म पर ध्यान से सही जानकारी के साथ भरें और जमा कर दें।

वैसे ऐसे व्यक्ति जिन्हें खुद से यह सब करने समझने में परेशानी होती है वो CSC यानी कॉमन सर्विस सेंटर में जाकर भी बना सकते हैं। फॉर्म भरकर जमा होने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद विभाग आपके आवेदन की वेरिफिकेशन होगी।

अगर आप विभाग की ओर से पात्र माने जाते हैं तो इसके लिए आपको लिस्ट में अपना नाम देखना होगा। URBAN एरिया में यह लिस्ट नगर निगम जारी करता है और RURAL एरिया में ग्रामीण विकास विभाग जारी करता है।

अगर आपका नाम विभाग की तरफ से जारी की गई पात्र लाभार्थियों की लिस्ट में आता है तो आप इस योजना का लाभ यानी प्रति महीना कम दरों पर 35 किग्रा तक राशन की सुविधा ले सकते हैं।

उम्मीद करता हूं आप सभी को यह योजना अच्छे से समझ आई होगी यदि अब भी आपको लगे कि कुछ सवाल या संशय है तो आप अपने नजदीकी सीएससी सेंटर से इस योजना के विषय में जानकारी जुटाकर उनकी सहायता से आवेदन कर सकते हैं।

Kisan Seva Kendra Petrol Pump Dealership: 2 लाख हर महीना कमाई करने का मौका

निष्कर्ष

अंत्योदय अन्न योजना भारतीय समाज के सबसे गरीब वर्ग के लिए एक महत्वपूर्ण योजना है। यह योजना गरीबी की लड़ाई के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है और उन लोगों को आवश्यक अनाज पहुंचाने में मदद करती है जो अपनी आर्थिक स्थिति के कारण उससे वंचित हैं। इसके माध्यम से सरकार गरीबी और भूखमरी को कम करने के लिए योजना बना रही है।

Leave a Comment