Delhivery Delivery Boy Job | डिलीवरी पार्टनर बनकर महीने का ₹35,000 तक कमाने मौका

Delhivery Delivery Boy Job : डिलीवरी कंपनी में कूरियर डिलीवरी की नौकरी करने के दो सबसे बड़े लाभ है ,कूरियर डिलीवरी कंपनी में काम करने के कई लाभ होते हैं, और इस लेख में हम उनमें से दो मुख्य लाभ के बारे में चर्चा करेंगे।

पहला लाभ है वाहन के रूप में विकल्प कई कंपनियों में कूरियर डिलीवरी कार्यकर्ताओं के लिए तीन प्रमुख विकल्प होते हैं। पहला विकल्प है बाइक या स्कूटी का उपयोग करना, जिससे आप जल्दी से काम पर पहुंच सकते हैं। दूसरा विकल्प है साइकिल का उपयोग करना, जो कि कुछ कंपनियों में उपलब्ध नहीं होता है, लेकिन यह एक पर्याप्त विकल्प हो सकता है। तीसरा विकल्प है वाहन न होने की स्थिति में भी काम करने का, जो कि कुछ कंपनियों में संभव होता है।

दूसरा लाभ है अर्निंग का कूरियर डिलीवरी कंपनियों में आपको दो प्रमुख अर्निंग विकल्प मिलते हैं। पहला विकल्प है फिक्स सैलरी पर काम करना, जिसमें आपको निश्चित सैलेरी मिलती है। दूसरा विकल्प है पैकेट आधारित अर्निंग, जिसमें आपकी कमाई किए गए पैकेट के हिसाब से होती है।

कौन सा विकल्प बेहतर है, यह आपकी स्थिति और प्राथमिकताओं पर निर्भर करता है। आईडी बनाने की प्रक्रिया के दौरान, आपको इस विषय पर विचार करने का मौका मिलता है।

जॉइनिंग प्रक्रिया कूरियर डिलीवरी कंपनियों में जॉइनिंग प्रक्रिया को ऑनलाइन और ऑफलाइन दो तरीकों से किया जाता है। आजकल, ऑनलाइन जॉइनिंग प्रक्रिया अधिकतर प्रचलित है। लेकिन, कुछ लोग इसमें गलतियाँ करते हैं, जिससे उनका आईडी एक्टिव नहीं हो पाता। इसलिए, जॉइनिंग प्रक्रिया को ध्यान से समझना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

कोई भी कूरियर डिलीवरी कंपनी में नौकरी करने से पहले, आपको इन लाभों को ध्यान में रखना चाहिए और जॉइनिंग प्रक्रिया को समझने के लिए तैयार रहना चाहिए।

डिलीवरी कंपनियों में नौकरी करना एक ऐसा काम है जो आजकल युवाओं के बीच बहुत प्रचलित है। यहां हम बात करेंगे कि कूरियर डेलिवेरी कंपनी इंडिया की लार्जेस्ट कंपनियों में से है इसमें में काम करने का तरीका क्या होता है और इसमें कैसे शामिल हो सकते हैं जानते है।

How to Join Blue Dart Delivery Boy? ब्लू डार्ट डिलीवरी बॉय बनने का आसान तरीका!

Delhivery Delivery Boy Job कैसे जॉइन करते है ?

सबसे पहले, इस कंपनी में डिलीवरी पार्टनर बनने के लिए कुछ आवश्यकताएं होती हैं। आपको उन्हें पूरा करना होता है और तब ही आप डिलीवरी कार्य कर सकते हैं। यह बहुत सरल है। आपको पहले डेलिवेरी ऐप्प डाउनलोड करना है फिर अपना फोन नंबर दर्ज करना होता है और फिर नीचे ‘गेट ओटीपी’ पर क्लिक करना होता है। फिर, आपके फोन पर एक ओटीपी आता है, जिसे आपको दर्ज करना होता है और ‘सबमिट’ पर क्लिक करना होता है।

जब आप इस प्रक्रिया को पूरा करते हैं, तो आपके सामने एक इंटरफेस खुलता है, जिसमें आपको अपने जानकारी भरने के लिए कहा जाता है। आपको पहले ‘पर्सनल’ पर जाना होता है और फिर अपना जेंडर, पहला नाम, अंतिम नाम, और जन्म तिथि दर्ज करना होता है। फिर, आपको अपना पता दर्ज करना होता है। यहां एक बात ध्यान रखने योग्य है, यदि आपका स्थायी और वर्तमान पता अलग-अलग है, तो आपको इसे उपयोग करना होगा। अगले रिफरल कोड का चयन करें, जो वैकल्पिक है, और ‘सेव एंड प्रोसीड’ पर क्लिक करें।

इसके बाद, आपको वेहिकल का चयन करना होता है। आपके पास बाइक, साइकिल, ट्रक, मिनीवैन या कोई अन्य वेहिकल हो सकता है। यदि आपके पास कोई व्हीकल नहीं है, तो उसके लिए भी ऑप्शन उपलब्ध है।

अगर आप बाइक या स्कूटी से जॉइन कर रहे हैं, तो पेहला ऑप्शन आपको चुन लेना होगा। अगर आप साइकिल से काम कर रहे हैं, तो ‘साइकिल वाला’ ऑप्शन को चुनें। और यदि आपके पास कोई वाहन नहीं है, तो ‘वेहिकल वाले’ ऑप्शन पर क्लिक करें। अब आपको उस शहर में डिलीवरी कंपनी की तरफ से उपलब्ध इलेक्ट्रिक बाइक की जानकारी मिलेगी। वहां आपको एक फॉर्म मिलेगा, जिसे भरना होगा। अगर आपको वहां पर इलेक्ट्रिक बाइक का ऑप्शन मिल रहा है, तो आप तत्काल रन पर क्लिक कर सकते हैं।

दूसरा विकल्प है ‘पेमेंट मॉडल’ का। आपको दो विकल्प मिलेंगे फिक्स सैलरी और पैकेट। यह आपकी आर्थिक स्थिति और प्राथमिकताओं पर निर्भर करता है कि आप कौन सा विकल्प चुनते हैं। फिक्स सैलरी पर काम करते समय, आपको पेट्रोल इंसेंटिव भी मिलता है, जिससे आपको पेट्रोल का खर्च उठाने की चिंता नहीं करनी पड़ती। पेट्रोल के बदले आपकी मासिक कमाई में से एक हिस्सा भी शामिल किया जाता है।

Kisan Seva Kendra Petrol Pump Dealership: 2 लाख हर महीना कमाई करने का मौका

यहां आपको इन ऑप्शंस के बारे में सोचकर अपना निर्णय लेना चाहिए कि कौन सा आपके लिए सबसे अच्छा है। पेट्रोल की खर्च को लेकर आपकी जेब से सोचने की चिंता नहीं करनी पड़ेगी, जबकि फिक्स सैलरी के अंतर्गत आपकी कमाई में पेट्रोल का भी पैसा मिल जाएगा।

अगर आप फिक्स सैलरी पर काम कर रहे हैं, तो एक बात का ध्यान रखना जरूरी है कि आपको टाइमिंग के साथ भी कुछ रिक्वायरमेंट्स की आवश्यकता होगी। दूसरी बात, आपको जितने पार्सल दिए जाएंगे, उन सभी को डिलीवर करना होगा। क्योंकि यदि आपको फिक्स सैलरी मिल रही है, तो कंपनी आपके द्वारा किये गए सारे कामों का भुगतान करेगी। इसलिए, अगर आपको इस रिक्वायरमेंट को मंजूर है, तो आपको पहला ऑप्शन चुनना होगा। \

दूसरा विकल्प है पैकेट का। पैकेट के लिए, एक बात को ध्यान में रखना जरूरी है कि कभी-कभी पैकेट में पार्सल कम या अधिक हो सकते हैं। यह काम के अनुसार आपकी आर्थिक स्थिति पर भी निर्भर करता है। इस तरह के पैकेट में, मिनिमम ₹12 से लेकर ₹15 तक के पैकेट दिए जा सकते हैं। यहां पर पेट्रोल का पैसा अलग से नहीं मिलता है, लेकिन यहां पर आपको किसी भी टाइमिंग की रिक्वायरमेंट नहीं होती है। आप सुबह जितने चाहें उतने पार्सल कलेक्ट कर सकते हैं।

आप जितने जल्दी पार्सल डिलीवर कर दोगे, उतना जल्दी आप अपना काम बंद कर सकते हो, और सबसे अच्छी बात यह है कि जब पैकेट के रेशों में ज्यादा पार्सल होते हैं, तो उस समय पर डिलीवरी पार्टनर की अर्निंग भी ज्यादा होती है। यहां मुझे आपको एक और चीज बतानी है कि ज्यादातर लोग पर पैकेट पे काम करते हैं, और हब पे भी आपको यही सलाह दी जाती है कि आप पर पैकेट पे ही काम करें। तो जैसे ही आप पर पैकेट के लिए सिलेक्ट करते हैं, आपको नीचे ‘सेव एंड प्रोसीड’ पर क्लिक करना है। फिर आपको इंटरफेस खुल जाएगा।

यहां पर आपने जो शहर सिलेक्ट किया है, उसी शहर में कौन से हब पे काम करना चाहते हैं, वहां के हब के ऑप्शन आपको दिखाई देंगे। यहां पर आपको अपना एरिया सिलेक्ट करना है, जैसे ही आप एरिया सिलेक्ट कर लेते हैं, आपको ‘नेक्स्ट’ पर क्लिक कर देना है। फिर तीसरा ऑप्शन खुल जाता है, जिसमें आपको अपने बैंक की जानकारी भरनी है। आपको अपना अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड डालना होगा, और फिर ‘सेव एंड प्रोसीड’ पर क्लिक कर देना है।

फिर चौथा ऑप्शन खुल जाता है, डॉक्यूमेंट का। इस ऑप्शन में आपको सबसे पहले अपना पैन कार्ड नंबर डालना होगा। अगर आपके पास पैन कार्ड नहीं है, तो ‘आई डोंट हैव अ पैन कार्ड’ ऑप्शन को चुनें और ‘वेरीफाई’ पर क्लिक करें। उसके बाद, आपको आधार कार्ड का नंबर मांगा जाएगा, जिसे भरकर ‘वेरीफाई’ पर क्लिक करें।

एक ओटीपी आपके मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा, जो आपके आधार कार्ड से लिंक होगा। इस ओटीपी को डालें और ‘सबमिट’ पर क्लिक करें। अब आपसे ड्राइविंग लाइसेंस का नंबर मांगा जाएगा, जिसे भरकर ‘वेरीफाई’ पर क्लिक करें। अगर आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है, तो आप इलेक्ट्रिक बाइक या साइकिल से भी जॉइन कर सकते हैं।

तो, नीचे ‘आई डोंट हैव अ ड्राइविंग लाइसेंस’ वाले ऑप्शन पर क्लिक करें और नीचे ‘वेरीफाई’ पर क्लिक करें। फिर, लास्ट इस तरीके से इंटरफेस खुल जाता है। अब, जैसे कि आप देख पा रहे हैं, यहां पर का जो प्रोसेस है, वह हमारा कंप्लीट हो चुका है।

यहां पर आपको एक चीज का ध्यान रखना है – आपका जो आईडी है, वह आईडी एक्टिव होने के लिए आपको इसके हब पे जाना पड़ेगा। हब पे जाने के लिए, यहां पर आपने जो भी हब सिलेक्ट किया है, उसका लोकेशन एड्रेस सब कुछ यहां पर आपको दिया जायेगा।

तो, आपको हब पे जाने से पहले अपने ऑरिजिनल डॉक्यूमेंट्स लेकर जाना है। जैसे कि आपका आधार कार्ड, पैन कार्ड, आपका ड्राइविंग लाइसेंस। अगर आपके पास ऑरिजिनल डॉक्यूमेंट्स नहीं हैं, तो आप डिजिटल लॉकर से भी अपने डॉक्यूमेंट्स दिखा सकते हैं, या अगर लॉकर का ऐप आपके पास नहीं है, या फिर डॉक्यूमेंट्स आपके पास ऑरिजिनल नहीं हैं, तो आप ‘जीरो’ ऑप्शन को चुनें और हब पे जाने से पहले यह जानकारी सही स्थान पर दें।

तो, वहां हब पर थोड़ा सा आप उनसे बात करके वह चीजें एडजस्ट कर सकते हैं। जैसे कि आप यहां पर इसके हब पर चले जाएं और आपका आईडी वहां पर एक्टिव करा के दिया जायगा। इसके बाद शुरुआत में आपको दो से तीन दिन की ट्रेनिंग दी जाएगी। अगर आप अलरेडी एक्सपीरियंस हैं, यानी कि आपने इससे पहले किसी डिलीवरी कंपनी में काम किया है, तो फिर आपको ज्यादा ट्रेनिंग की आवश्यकता नहीं है। आप एक दिन में ही अपना वर्किंग शुरू कर सकते हैं, लेकिन फर्स्ट डेय में आपको बताया जाएगा कि कैसे इसका ऐप यूज करना है, कैसे पार्सल आने के बाद कैसे पार्सल कलेक्ट करना है। वह सभी चीजें आपको पहले दिन ही बताई जाएंगी।

लेकिन, अगर आपके पास पहला कोई एक्सपीरियंस नहीं है, तो आपको दो से तीन दिन तक जिस डिलीवरी पार्टनर के एरिया में काम कर रहे हैं, उनके साथ जाना पड़ेगा। वे आपको सभी चीजें समझाएंगे और दो से तीन दिन की ट्रेनिंग कंप्लीट होने के बाद आपका वर्किंग स्टार्ट हो जाएगा।

डेलिवेरी जॉब में कुछ जरूरी टिप्स

अब जैसे आपका काम शुरू हो जाता है, आपको शुरुआत में कौन-कौन सी बातों का ध्यान रखना चाहिए और किससे आपकी अर्निंग बढ़ सकती है, इसके कुछ महत्वपूर्ण टिप्स मैं आप लोगों को यहां पर बताता हूं।

देखिए, जैसे ही आपने जो भी एरिया सिलेक्ट किया है, उस एरिया में सुबह मॉर्निंग में इसके हब पर जाओगे। हब पे जाने के बाद, आपके एरिया के हिसाब से जो भी पार्सल है, वो आपको सॉर्टिंग करने हैं। क्योंकि पूरा पार्सल का एक बड़ा सा वहां पर एक आप लोगों को लोड दिखाई देगा। उसमें से आपके एरिया के हिसाब से आपको पार्सल जो है, वो सॉर्टिंग करने हैं।

यानी कि पहला काम यही होता है कि जितने जल्दी-जल्दी आप आपके एरिया के जो पार्सल हैं, वो आप अलग निकाल लेना है। उतने ही जल्दी वो पार्सल आप लेकर अपने फील्ड पर निकल सकते हो।

और यहां पर एक चीज का ध्यान रखिएगा कि आपके एरिया में और भी डिलीवरी पार्टनर होते हैं जो पेहले से ही काम कर रहे हैं। तो जितने जल्दी आप इसके हब पर चले जाओगे, उतने ही ज्यादा पार्सल आप वहा पर से कलेक्ट कर सकते हो।

जैसे आप पार्सल ले लेते हो, यहां पर एक और चीज का आपको ध्यान रखना है। पार्सल लेने के बाद कुछ पार्सल ऐसे होते हैं जो कि कस्टमर रिजेक्ट कर देता है, यानी कि कैंसिल कर देता है।

आप कस्टमर के घर तक जाओगे। घर पर जाने के बाद, या तो कस्टमर आपका कॉल नहीं उठाएगा, ऐसे कुछ ही गिने-चुने कस्टमर होते हैं जिनको पार्सल कैंसिल करना होता है।

तो वो पार्सल आपको को वापस अपने हब पर लाना है। लेकिन वो तुरंत लेकर नहीं आना, वो पार्सल आप वैसे के वैसे आपके बैक में आप रख दो। और जब आप पूरा जो भी आपका डिलीवरी का प्रोसेस है, वो कंप्लीट करने के बाद, सारे पार्सल डिलीवर करने के बाद वापस जब आप अपने हब पर आओगे, तो जो जो पार्सल कैंसिल हुए हैं या रिजेक्ट हुए हैं, वो पार्सल आपको अपने हब पर आके वापस रख देना है।

तो दोस्तों, इस तरीके से अगर आप डिलीवरी पार्टनर कंपनी में काम करते हो, तो आप महीने का मिनिमम 20,000 से लेकर मैक्सिमम 35,000 तक भी कमा सकते हो। धन्यवाद।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Leave a Comment